Friday, 1 December 2017

सावधान ! इस अस्पताल में मत चले जाना वरना जिंदा को बता देंगे मुर्दा



नई दिल्ली : राजधानी दिल्ली में अस्पताल की एक बड़ी लापरवाही देखने के मिली है। शालीमार बाग इलाके में स्थित मैक्स हॉस्पिटल ने एक जीवीत बच्चे को मृत घोषित कर दिया और जब बच्चे के परिजन उसे लेकर जाने लगे तो बच्चे को हिलता देख उन्हें इस हकीकत का पता चला। इसके बाद परिजनों ने बच्चे को नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया, जहां उसका इलाज चल रहा है। वहीं परिजनों का ये कहना है कि इस मामले में दिल्ली पुलिस ने अभी तक एफआईआर दर्ज नहीं की है, बल्कि ये मामला मेडिकल की लीगल सेल को फॉरवर्ड कर दिया है।

वहीं इस घटना को लेकर अस्पताल प्रशासन ने अपनी गलती मान ली है और वो लगातार बच्चे के परिजनों से संपर्क में हैं। अस्पताल की तरफ से जारी बयान में कहा गया है, "दोनों बच्चों का जन्म 30 नवंबर को हुआ था, डिलीवरी के वक्त बच्चों की उम्र 22 सप्ताह थी, हम इस घटना से गहरे सदमे में हैं और इस मामले की विस्तृत जांच के हमने आदेश दे दिए हैं। वहीं अस्पताल प्रशासन ने उस डॉक्टर को भी तत्काल छुट्टी पर भेज दिया है, जिसने बच्चे को मृत घोषित किया था।

इस मामले को केंद्रीय स्वास्थय मंत्री जेपी नड्डा ने गंभीरता से लेते हुए तुरंत स्वास्थ्य सचिव से बात की है। उन्होंने इस मामले पर नाराजगी जाहिर की है। मालूम हो कि हाल ही में गुरुग्राम के फोर्टिस अस्पताल में इलाज के नाम पर मरीज के परिजनों से मनमाना पैसा वसूलने से मामला सामने आया था

घटना शालीमार बाग के मैक्स हॉस्पिटल की है, जहां 30 नंवबर को एक महिला ने जुड़वा बच्चों को जन्म दि था। इनमें इनमें एक लड़का और दूसरी लड़की थी। परिजनों के आरोप के मुताबिक, डिलिवरी के बाद ही बच्ची की मौत हो गई थी और डॉक्टरों ने दूसरे बच्चे का इलाज शुरू कर दिया, लेकिन डॉक्टरों ने बताया कि करीब एक घंटे के बाद ही दूसरे बच्चे ने भी दम तोड़ दिया है। इसके बाद अस्पतालवालों ने दोनों बच्चों की डेड बॉडी को कागज और कपड़े में लपेटकर परिजनों को सौंप दी।


जब परिजन शवों को लेकर वहां से जाने लगे तो रास्ते में उन्हें एक बच्चे के शरीर में हलचल दिखी। उन्होंने तुरंत उस पार्सल को फाड़ा तो अंदर बच्चा जीवित मिला। वे तुरंत उसे लेकर एक नजदीकी अस्पताल गए, जहां दूसरा बच्चा जीवित है और उसका इलाज चल रहा है।
loading...
हमारे Facebook पेज को फॉलो करे

Source : rajsthan patrika, samaya live, ndtv, news18 hindi, navbharat times, jagran, nai dunia, live hindustan, jansatta

Read This :

loading...

0 comments :

© 2011-2014 Hamari Khabar. Designed by Bloggertheme9. Powered by Blogger.