Monday, 30 October 2017

बेटे की शादी में 4 लाख रु. का मिला था दहेज, सरकार के अभियान से प्रभावित होकर लौटा दी



नई दिल्ली : राजीवरंजन सिंह, प्रमोद सिंह को जब 4 लाख रुपए लौटाने लगे, तो प्रमोद की पत्नी निर्मला देवी रोने लगीं। बेटी अनुराधा भी सुबकने लगी। मन ही मन भगवान से पूछने लगी कि मुझसे क्या गलती हुई, जो तय शादी टूट रही है?

उन्हें राजीव की इस बात पर भरोसा ही नहीं हो रहा था कि हम दहेज के रुपए लौटा रहे हैं। शादी नहीं तोड़ रहे।तब, राजीव को भी नहीं पता था कि पिता हरींद्र सिंह के कहने पर उन्होंने कितना बड़ा काम कर दिया? इसका अहसास रविवार को हुआ, जब मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बुलावे पर राजीव पिता के साथ सीएम हाउस पहुंचे।

सीएम ने हरींद्र को गले लगाया, खूब तारीफ की; पिता-पुत्र के साथ खाना खाया; पूरे ढाई घंटे गुजारे। सरकार अपने दहेज बाल विवाह विरोधी अभियान में हरींद्र को रोल मॉडल जैसा मान रही है। खुद नीतीश ने कहा-हम इसमें हरींद्र का सक्रिय सहयोग लेंगे।

हरींद्र सिंह, भोजपुर के आयर थाना के बरनांव गांव के रहने वाले हैं। इसी 31 अगस्त को हेडमास्टर पद से रिटायर हुए। छोटे पुत्र प्रेम रंजन सिंह की शादी जमालपुर, कोईलवर निवासी प्रमोद सिंह की पुत्री अनुराधा के साथ तय की। 4 अक्टूबर को हरींद्र ने चंदवा के महायज्ञ में मुख्यमंत्री की दहेज के खिलाफ अपील को सुना घर आए।

पत्नी समेत सबसे बात की। और 10 अक्टूबर को बड़े पुत्र राजीव को रुपया लौटाने के लिए लड़की वालों के यहां भेज दिया। राजीव कहते हैं-हमें प्रमोद सिंह ने 4 लाख रुपए दिए थे। शादी में खर्च के लिए। हमारी कोई डिमांड नहीं थी।शादी, इसी साल 3 दिसंबर को होनी है।

मुख्यमंत्री ने कहा-हम इस शादी में जरूर आएंगे।हरींद्र के दो पुत्र एक पुत्री हैं। राजीव, प्रोपर्टी डीलर हैं। प्रेम रंजन, आईटी डिप्लोमा करने के बाद आरा-गोढ़ना रोड में दुकान चलाते हैं।


वाकई,मुख्यमंत्री आजकल अपनी सभाओं में हरींद्र सिंह की चर्चा करते हैं। उनके हवाले लोगों से दहेज प्रथा का विरोध करने का आग्रह करते हैं। रविवार को भी उन्होंने कहा-मेरे आह्वान से प्रभावित होकर हरींद्र सिंह ने नजीर पेश की है। उनका कदम समाज के लिए आदर्श है। इससे हमलोगों को ताकत मिली है। लगा कि हमारे अभियान, हमारे आह्वान का सकारात्मक प्रभाव पड़ने लगा है। लोगों के सहयोग से बाल विवाह एवं दहेज प्रथा जैसी कुरीतियों को मिटाया जा सकता है।
loading...
हमारे Facebook पेज को फॉलो करे

Source : rajsthan patrika, samaya live, ndtv, news18 hindi, navbharat times, jagran, nai dunia, live hindustan, jansatta

Read This :

loading...

0 comments :

© 2011-2014 Hamari Khabar. Designed by Bloggertheme9. Powered by Blogger.