Sunday, 20 August 2017

गौतम गंभीर ने कर दी सच्ची बात, भक्तों को नही हो रही हजम

भारत में पिछले कई दिनों से लगातार हो रहे ट्रेन हादसों पर टीम इंडिया के स्टार बल्लेबाज़ गौतम गंभीर ने तीखी प्रतिक्रिया दी है। गंभीर ने कहा बुलेट ट्रेन के सपने बाद में भी देखे जा सकते हैं, पहले सरकार को बढ़ते ट्रेन हादसों पर लगाम लगाने के बारे में सोचना चाहिए।




सोशल मीडिया पर देश से जुड़े मुद्दों पर खुलकर अपनी राय रखने वाले भारत के स्टार क्रिकेटर गौतम गंभीर ने एक ट्वीट कर कहा कि देश में बढ़ते ट्रेन हादसों पर ध्‍यान पहले दिया जाना चाहिए। बुलेट ट्रेन के सपने तो बाद में भी देखे जा सकते हैं।




केंद्र में मोदी सरकार के सत्‍ता में आने के बाद रेल हादसों की संख्‍या में बढ़ोत्‍तरी देखी गई है। सन 2014 से अब तक देश में करीब तीन दर्जन रेल हादसे हुए हैं।

गंभीर का यह ट्वीट भी आंध्र प्रदेश में हुए ट्रेन हादसे के बाद आया है। यह हादसा 21 जनवरी को हुआ था। जिसमें तकरीबन 39 लोगों के मारे जाने की खबर थी और 50 से ज्यादा लोग इस हादसे में घायल हुए थे।

आइये डालते हैं एक नज़र पिछले ढ़ाई साल में हुए बड़े रेल हादसों पर...

कानपुर रेल हादसा: 20 नवंबर 2016 कानपुर के पास बड़ी रेल दुर्घटना हुई। हादसे में 150 से ज्यादा लोगों की जान गई और 200 से ज्यादा लोग घायल हो गए।

भदोही रेल हादसा: 25 जुलाई 2016 को यूपी के भदोही इलाके में मंडुआडीह-इलाहाबाद पैसेंजर ट्रेन एक स्कूल वैन से टकरा गयी। वैन में सवार 7 बच्चों की जान चली गई।

रायबरेली रेल हादसा: 20 मार्च 2015 को देहरादून से वाराणसी जा रही जनता एक्सप्रेस पटरी से उतर गई। हादसा रायबरेली के बछरावां रेलवे स्टेशन के पास हुआ। इस हादसे में 34 लोग मारे गए।

कौशांबी-सिराथू रेलवे हादसा: 25 मई 2015 को कौशांबी के सिराथू रेलवे स्टेशन के पास मूरी एक्सप्रेस हादसे का शिकार हुई। हादसे में 25 यात्री मारे गये और करीब 300 घायल हुए।

हरदा रेल हादसा: 5 अगस्त 2015 को मध्‍य प्रदेश के हरदा में 10 मिनट के भीतर दो ट्रेन हादसे हुए। इटारसी-मुंबई रेलवे ट्रैक पर मुंबई-वाराणसी कामायनी एक्सप्रेस और पटना-मुंबई जनता एक्सप्रेस पटरी से उतर गईं। माचक नदी पर पटरी धंसने की वजह से यह हादसा हुआ था। दुर्घटना में 31 यात्री मारे गए थे।

कोंकण रेल हादसा: मई 2014 में महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले में ट्रेन का इंजन और उसके छह डिब्बे पटरी से उतर गए थे। हादसे में 20 यात्रियों की मौत हो गई, जबकि 124 लोग घायल हुए थे।


चुरेब रेल हादसा: 26 मई, 2014 को उत्तर प्रदेश के संतकबीरनगर जिले में चुरेब रेलवे स्टेशन के पास गोरखधाम एक्सप्रेस और मालगाड़ी में टक्कर हुई। यात्री ट्रेन को उसी ट्रैक पर ले जाया गया था, जहां पहले से मालगाड़ी खड़ी थी। हादसे में 22 से ज्यादा यात्रियों की जान चली गई।
loading...
हमारे Facebook पेज को फॉलो करे

Source : rajsthan patrika, samaya live, ndtv, news18 hindi, navbharat times, jagran, nai dunia, live hindustan, jansatta

Read This :

loading...

0 comments :

© 2011-2014 Hamari Khabar. Designed by Bloggertheme9. Powered by Blogger.