Saturday, 19 August 2017

गौ हत्या के आरोपी BJP नेता के मुंह पर पोती कालिख, पढ़े पूरी खबर!

नई दिल्ली : धमधा ब्लॉक के राजपुर स्थित शगुन गोशाला में तीन दिन में 30 गायों की मौत का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। जांच के बाद गायों की मौत का कारण कुपोषण और भुखमरी बताया गया है। गोशाला के संचालक बीजेपी नेता हरीश वर्मा के खिलाफ शिकायत की गई है कि वो मृतक गायों की खाल उतरवाकर उससे मछलियों के लिए चारा बनवाता था। इधर कृषि एवं पशुपालन मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने मामले की रिपोर्ट सौंपने को कहा है।



दरअसल दुर्ग जिले में तीन दिन में 30 गायों की मौत के मामले में पुलिस ने भाजपा नेता और शगुन गोशाला के संचालक हरीश वर्मा को शुक्रवार को गिरफ्तार कर लिया। हरीश जामुल पालिका उपाध्यक्ष भी है। यह गोशाला धमधा ब्लॉक के राजपुर में है। हरीश पर गायों की ठीक से देखभाल नहीं करने और उनके साथ क्रूरता पूर्वक व्यवहार करने के आरोप लगा है।

गायों की मौत का आंकड़ा 200 के पार :-

इस घटना के बाद आरोपी के दो अन्य गौशालाओं की भी जांच की गई। जो नजारा था वो दिल दहलाने वाला था। तीनों गौशालाओं में लगभग यहीं हाल है। तानों को मिलाकर गायों की मौत का आंकड़ा 200 के पार हो गया है। अभी भी मौतों का सिलसिला जारी है। शनिवार को शगुन गौशाला में 7 और गायों की मौत हो गई। ध्यान देने वाली बात है कि तीनों गौशालाएं 25 किमी के दायरे में हैं।

शनिवार को जब ग्रामीण पहुंचे तो भूसे में भी मृतप्राय गायों को छुपाकर रखा गया था। ग्रामीणों ने बताया कि ये गायों को इस तरह से मौत देता है। संचालक के खिलाफ पुलिस में शिकायत की गई है। शिकायत में ये बताया गया है कि ये मरी हुई गायों की खाल उतरवाकर मछलियों के चारे के लिए इस्तेमाल करता था।

मौत के आंकड़े छुपाने के लिए किया ये सब :-

आरोपी ने गायों के मौत के आंकड़े छुपाने के लिए एक ही कब्र में कई गायों को दफना दिया था। इसके अलावा उसने खड़ी ट्रालियों में भी गायों के शवों को भर दिया था ताकि किसी को शंका न हो और बाद में उसे कहीं और फेंक दिया जाए।

इधर जब जांच टीम पहुंची तो देखकर उसके होश उड़ गए। ट्रालियों के अलावा वहां जमीन पर गायों का शव रखकर काली पॉलिथीन से ढका गया था जिससे बहुत तेज बदबू आ रही थी।

गायों के नाम पर ऐंठे लाखों रुपए :-

इस गोशाला को गायों की बेहतर देखभाल और पोषण के लिए गोसेवा आयोग की ओर से अब तक 93.63 लाख रुपए का अनुदान मिल चुका है। जांच में पाया गया है कि गायों की मौत कुपोषण और भुखमरी से हुई है। शुक्रवार को भी यहां तीन गायों की मौत हो गई। मृत गायों की संख्या बढ़ सकती है। सूत्रों के मुताबिक इस गोशाला के खिलाफ आयोग को लगातार शिकायतें मिल रही थीं।

जिसकी जांच भी चल रही है। गोशाला संचालक हरीश वर्मा को नोटिस जारी कर यहां के हालात सुधारने के लिए भी कहा गया था। पिछले तीन दिन से आयोग की टीम यहां डटी हुई थी। टीम ने गौशाला के निरीक्षण में पाया कि गायों की देखभाल और पोषण आहार की व्यवस्था में सुधार नहीं किया गया है। इसकी वजह से गायों की मौत हो रही है।


सीएम रमन सिंह ने कहा कि गोशाला में भूख से गायों की मौत की नए सिरे से जांच होगी। पशुपालन विभाग को सभी गोशालाओं का निरीक्षण करने का निर्देश दिया गया है। कुछ गोशालाओं की रिपोर्ट आई है। कई में अनियमितता पाई गई है। इसमें सरकारी मदद पाने और नहीं पाने वाले, सभी शामिल हैं। अव्यवस्था मिलने पर सभी के खिलाफ कार्रवाई होगी।
loading...
हमारे Facebook पेज को फॉलो करे

Source : rajsthan patrika, samaya live, ndtv, news18 hindi, navbharat times, jagran, nai dunia, live hindustan, jansatta

Read This :

loading...

0 comments :

© 2011-2014 Hamari Khabar. Designed by Bloggertheme9. Powered by Blogger.