Friday, 23 June 2017

मीरा कुमार को राष्ट्रपति उम्मीदवार बनाकर लोगों को लड़वाने का काम कर रही है कांग्रेस : योगी

नई दिल्ली : एनडीए के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद ने अपना नामांकन भर दिया है। नामांकन के दौरान एनडीए ने अपनी पूरी ताकत दिखाई।


इस दौरान कोविंद के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह, बीजेपी के कद्दावर नेता लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी भी मौजूद रहे, साथ ही लगभग 20 राज्यों के मुख्यंमंत्रियों ने भी अपनी उपस्थिति दर्ज कराई। इस मौके पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कांग्रेस को आड़े हाथों लिया, और जमकर खरी-खोटी सुनाई।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हमारी पार्टी का लक्ष्य देश के अंतिम व्यक्ति का विकास है, हमारी पार्टी उसी पर आगे बढ़ रही है। रामनाथ कोविंद को राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाने के लिए अमित शाह और पीएम मोदी का आभार व्यक्त करता हूं।


योगी ने कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा कि अगर कांग्रेस पार्टी को मीरा कुमार को उम्मीदवार बनाना ही था तो वह पिछली बार भी बना सकते थे, लेकिन क्योंकि बीजेपी ने कोविंद जी का नाम आगे किया इसलिए लोगों को लड़वाने के लिए कांग्रेस ने मीरा कुमार का चुनाव किया। योगी ने मायावती और लालू यादव पर हमला बोलते हुए कहा कि इन दोनों की हालत खिसियानी बिल्ली खंबा नोचो जैसी हो गई है। 

नई दिल्ली : एनडीए के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद ने अपना नामांकन भर दिया है। नामांकन के दौरान एनडीए ने अपनी पूरी ताकत दिखाई।


इस दौरान कोविंद के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह, बीजेपी के कद्दावर नेता लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी भी मौजूद रहे, साथ ही लगभग 20 राज्यों के मुख्यंमंत्रियों ने भी अपनी उपस्थिति दर्ज कराई। इस मौके पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कांग्रेस को आड़े हाथों लिया, और जमकर खरी-खोटी सुनाई।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हमारी पार्टी का लक्ष्य देश के अंतिम व्यक्ति का विकास है, हमारी पार्टी उसी पर आगे बढ़ रही है। रामनाथ कोविंद को राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाने के लिए अमित शाह और पीएम मोदी का आभार व्यक्त करता हूं।


योगी ने कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा कि अगर कांग्रेस पार्टी को मीरा कुमार को उम्मीदवार बनाना ही था तो वह पिछली बार भी बना सकते थे, लेकिन क्योंकि बीजेपी ने कोविंद जी का नाम आगे किया इसलिए लोगों को लड़वाने के लिए कांग्रेस ने मीरा कुमार का चुनाव किया। योगी ने मायावती और लालू यादव पर हमला बोलते हुए कहा कि इन दोनों की हालत खिसियानी बिल्ली खंबा नोचो जैसी हो गई है। 
हमारे Twitter & Facebook पेज को फॉलो करे

Source : rajsthan patrika, samaya live, ndtv, news18 hindi, navbharat times, jagran, nai dunia, live hindustan, jansatta

Read This :

loading...

श्रीनगर : जामा मस्जिद के बाहर फोटो ले रहे DSP की भीड़ ने की पीट-पीटकर हत्या!

नई दिल्ली : जम्मू-कश्मीर में भीड़ ने एक पुलिस अधिकारी की मस्जिद के बाहर ड्यूटी के दौरान हत्या कर दी। भीड़ ने पुलिस अफसर को निर्वस्त्र करके पत्थर मारकर मार डाला। भीड़ कथित तौर पर पुलिस अधिकारी द्वारा गोलियां चलाने के बाद भड़क गई थी। घटना के बाद से क्षेत्र में तनाव है और बड़ी संख्या में सुरक्षाबलों को तैनात किया गया है।

Image Source - Jagran

वारदात गुरुवार देर रात हुई। नौहट्टा इलाके में डीएसपी मोहम्मद अयूब पंडित जामिया मस्जिद के बाहर अपनी ड्यूटी कर रहे थे। पुलिस सूत्रों के मुताबिक, रात करीब साढ़े बारह बजे कुछ लोगों ने जामिया मस्जिद के नजदीक अयूब को गुजरते देखा था।


आरोप है कि वह मस्जिद से बाहर आ रहे लोगों की तस्वीरें ले रहे थे। सूत्रों के मुताबिक, लोगों ने जब अयूब पंडित को पकड़ने की कोशिश की तो उन्होंने अपनी पिस्तौल से गोलियां चलानी शुरू कर दी, जिससे तीन लोग घायल हो गए। इसके बाद, भीड़ ने उनकी हत्या कर दी। गुस्साई भीड़ ने पत्थर मार-मारकर हत्या करने से पहले उन्हें निर्वस्त्र कर दिया था। 

नई दिल्ली : जम्मू-कश्मीर में भीड़ ने एक पुलिस अधिकारी की मस्जिद के बाहर ड्यूटी के दौरान हत्या कर दी। भीड़ ने पुलिस अफसर को निर्वस्त्र करके पत्थर मारकर मार डाला। भीड़ कथित तौर पर पुलिस अधिकारी द्वारा गोलियां चलाने के बाद भड़क गई थी। घटना के बाद से क्षेत्र में तनाव है और बड़ी संख्या में सुरक्षाबलों को तैनात किया गया है।

Image Source - Jagran

वारदात गुरुवार देर रात हुई। नौहट्टा इलाके में डीएसपी मोहम्मद अयूब पंडित जामिया मस्जिद के बाहर अपनी ड्यूटी कर रहे थे। पुलिस सूत्रों के मुताबिक, रात करीब साढ़े बारह बजे कुछ लोगों ने जामिया मस्जिद के नजदीक अयूब को गुजरते देखा था।


आरोप है कि वह मस्जिद से बाहर आ रहे लोगों की तस्वीरें ले रहे थे। सूत्रों के मुताबिक, लोगों ने जब अयूब पंडित को पकड़ने की कोशिश की तो उन्होंने अपनी पिस्तौल से गोलियां चलानी शुरू कर दी, जिससे तीन लोग घायल हो गए। इसके बाद, भीड़ ने उनकी हत्या कर दी। गुस्साई भीड़ ने पत्थर मार-मारकर हत्या करने से पहले उन्हें निर्वस्त्र कर दिया था। 
हमारे Twitter & Facebook पेज को फॉलो करे

Source : rajsthan patrika, samaya live, ndtv, news18 hindi, navbharat times, jagran, nai dunia, live hindustan, jansatta

Read This :

loading...

Thursday, 22 June 2017

राजस्थान : फिर सुलगी जाट आरक्षण की चिंगारी, रेलवे ट्रैक पर कब्जा!

नई दिल्ली : आरक्षण की मांग को लेकर राजस्थान के धौलपुर और भरतपुर जिलों के जाटों ने मथुरा-अलवर रेलवे ट्रैक पर कब्जा कर लिया है। गुरुवार दिनभर भरतपुर के रारह गांव में हुई जाट समाज की महापंचायत के बाद जाटों ने पैदल ही रेलवे ट्रैक की ओर कूच किया और शाम को डीग तहसील के बहस गांव से गुजर रहे रेलवे ट्रैक पर कब्जा कर लिया।

Image Source - naidunia

अलवर-मथुरा रेल मार्ग पर अचानक हुए कब्जे से सकते में आए रेलवे व जिला प्रशासन ने पहले तो जाट समाज के लोगों को जबरन हटाने का प्रयास किया, लेकिन जब वो नहीं हटे तो फिर समझाने का दौर शुरू हुआ।

प्रशासन एक ओर जहां आंदोलनकारियों को रेलवे ट्रैक से हटाने का आग्रह कर रहा था, वहीं देर शाम भरतपुर जिले के विभिन्न कस्बों से गुजरने वाली सड़कों को जाम कर दिया गया। शहर के मुख्य मार्गो पर जाट समाज के युवक बैठ गए। कुछ स्थानों पर वाहन चालकों व राहगीरों के साथ अभद्र व्यवहार भी किया गया।

इससे पहले रारह गांव में हुई महापंचायत में कांग्रेस विधायक विश्वेन्द्र सिंह ने कहा कि दोनों जिलों के जाटों की आर्थिक स्थिति काफी खराब है। जाट समाज सरकार से काफी समय से आरक्षण की मांग कर रहा है, लेकिन कोई ध्यान नहीं दिया गया। इसलिए अब आंदोलन करना पड़ा। उन्होंने कहा कि आरक्षण मिलने तक रेलवे यातायात जाम रहेगा।

सिंह ने पहले 23 जून से आंदोलन शुरू करने की घोषणा की थी, लेकिन अचानक महापड़ाव को संबोधित करते हुए गुरुवार से ही रेलवे ट्रैक जाम करने की घोषणा कर दी। इधर, अन्य पिछड़ा वर्ग आयोग ने गुरुवार दोपहर मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को भरतपुर व धौलपुर के जाटों को आरक्षण देने की सिफारिश करते हुए रिपोर्ट सौंप दी। आयोग के चेयरमैन डॉ. जितेंद्र गोयल सहित अन्य सदस्यों ने रिपोर्ट के बारे में संक्षिप्त जानकारी भी सीएम को दी।


वहीं, सरकार की ओर से आंदोलनकारियों को यह संदेश भेजा गया है कि ओबीसी आयोग की रिपोर्ट मिल गई जिसमें भरतपुर व धौलपुर के जाटों को आरक्षण देने की बात कही गई है। सरकार शीघ्र इस पर निर्णय लेगी जो जाटों के पक्ष में होगा।

नई दिल्ली : आरक्षण की मांग को लेकर राजस्थान के धौलपुर और भरतपुर जिलों के जाटों ने मथुरा-अलवर रेलवे ट्रैक पर कब्जा कर लिया है। गुरुवार दिनभर भरतपुर के रारह गांव में हुई जाट समाज की महापंचायत के बाद जाटों ने पैदल ही रेलवे ट्रैक की ओर कूच किया और शाम को डीग तहसील के बहस गांव से गुजर रहे रेलवे ट्रैक पर कब्जा कर लिया।

Image Source - naidunia

अलवर-मथुरा रेल मार्ग पर अचानक हुए कब्जे से सकते में आए रेलवे व जिला प्रशासन ने पहले तो जाट समाज के लोगों को जबरन हटाने का प्रयास किया, लेकिन जब वो नहीं हटे तो फिर समझाने का दौर शुरू हुआ।

प्रशासन एक ओर जहां आंदोलनकारियों को रेलवे ट्रैक से हटाने का आग्रह कर रहा था, वहीं देर शाम भरतपुर जिले के विभिन्न कस्बों से गुजरने वाली सड़कों को जाम कर दिया गया। शहर के मुख्य मार्गो पर जाट समाज के युवक बैठ गए। कुछ स्थानों पर वाहन चालकों व राहगीरों के साथ अभद्र व्यवहार भी किया गया।

इससे पहले रारह गांव में हुई महापंचायत में कांग्रेस विधायक विश्वेन्द्र सिंह ने कहा कि दोनों जिलों के जाटों की आर्थिक स्थिति काफी खराब है। जाट समाज सरकार से काफी समय से आरक्षण की मांग कर रहा है, लेकिन कोई ध्यान नहीं दिया गया। इसलिए अब आंदोलन करना पड़ा। उन्होंने कहा कि आरक्षण मिलने तक रेलवे यातायात जाम रहेगा।

सिंह ने पहले 23 जून से आंदोलन शुरू करने की घोषणा की थी, लेकिन अचानक महापड़ाव को संबोधित करते हुए गुरुवार से ही रेलवे ट्रैक जाम करने की घोषणा कर दी। इधर, अन्य पिछड़ा वर्ग आयोग ने गुरुवार दोपहर मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को भरतपुर व धौलपुर के जाटों को आरक्षण देने की सिफारिश करते हुए रिपोर्ट सौंप दी। आयोग के चेयरमैन डॉ. जितेंद्र गोयल सहित अन्य सदस्यों ने रिपोर्ट के बारे में संक्षिप्त जानकारी भी सीएम को दी।


वहीं, सरकार की ओर से आंदोलनकारियों को यह संदेश भेजा गया है कि ओबीसी आयोग की रिपोर्ट मिल गई जिसमें भरतपुर व धौलपुर के जाटों को आरक्षण देने की बात कही गई है। सरकार शीघ्र इस पर निर्णय लेगी जो जाटों के पक्ष में होगा।
हमारे Twitter & Facebook पेज को फॉलो करे

Source : rajsthan patrika, samaya live, ndtv, news18 hindi, navbharat times, jagran, nai dunia, live hindustan, jansatta

Read This :

loading...

गुस्साए गावस्कर - जिन्हें कोच से दिक्कत वो टीम छोड़ दें!

नई दिल्ली : भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली इन दिनों कई लोगों के निशाने पर हैं। फैन्स ने उन्हें हटाकर महेंद्र सिंह धौनी को फिर से कप्तान बनाने की बात कही है तो वहीं कुछ दिग्गज खिलाड़ियों ने भी विराट को आड़े हाथों लिया है।


दरअसल जब से अनिल कुंबले ने टीम इंडिया के कोच पद से इस्तीफा दिया है, तब से ही विराट कई लोगों की नजरों में विलेन बन गए हैं।

कुंबले ने सोशल मीडिया पर स्टेटमेंट जारी करते हुए कहा था कि विराट को उनके काम करने के तरीके से परेशानी थी। इस मामले में पूर्व क्रिकेटर सुनील गावस्कर ने भी विराट को खूब खरी-खोटी सुनाई है। उन्होंने कहा कि किसी भी क्रिकेट सलाहकार समिति की जरूरत ही क्या विराट खुद ही क्यों नहीं टीम इंडिया के लिए कोच का चुनाव कर लेते।

आपको बता दें कि क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) में सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली और वीवीएस लक्ष्मण शामिल हैं। गावस्कर विराट से काफी नाराज हैं उन्होंने एक न्यूज चैनल पर कहा, 'टीम के खिलाड़ी और कप्तान की पसंद से ही कोच रखना है तो फिर सीएसी की जरूरत ही क्या है। वेस्टइंडीज में मौजूद टीम इंडिया के खिलाड़ियों और कप्तान से ही पूछकर कोच रख लिया जाए। इससे सबका समय भी बचेगा।'

दरअसल विराट और कुंबले के बीच पिछले कुछ समय से मनमुटाव चल रहा था। चैम्पियंस ट्रॉफी खत्म होने के साथ ही कुंबले का कोच पद के लिए कॉन्ट्रैक्ट भी खत्म हो गया था। पहले उन्हें वेस्टइंडीज दौरे तक ये जिम्मेदारी सौंपनी थी, लेकिन पाकिस्तान के खिलाफ फाइनल मैच में मिली हार के बाद कोच और कप्तान के बीच दूरियां और बढ़ गईं।


विराट ने बीसीसीआई के आला अधिकारियों से मुलाकात कर कहा कि टीम और वो कुंबले के साथ काम नहीं करना चाहते। जिसके बाद कुंबले ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया। आपको बता दें कि कुंबले का चयन सीएसी ने ही किया था।

नई दिल्ली : भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली इन दिनों कई लोगों के निशाने पर हैं। फैन्स ने उन्हें हटाकर महेंद्र सिंह धौनी को फिर से कप्तान बनाने की बात कही है तो वहीं कुछ दिग्गज खिलाड़ियों ने भी विराट को आड़े हाथों लिया है।


दरअसल जब से अनिल कुंबले ने टीम इंडिया के कोच पद से इस्तीफा दिया है, तब से ही विराट कई लोगों की नजरों में विलेन बन गए हैं।

कुंबले ने सोशल मीडिया पर स्टेटमेंट जारी करते हुए कहा था कि विराट को उनके काम करने के तरीके से परेशानी थी। इस मामले में पूर्व क्रिकेटर सुनील गावस्कर ने भी विराट को खूब खरी-खोटी सुनाई है। उन्होंने कहा कि किसी भी क्रिकेट सलाहकार समिति की जरूरत ही क्या विराट खुद ही क्यों नहीं टीम इंडिया के लिए कोच का चुनाव कर लेते।

आपको बता दें कि क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) में सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली और वीवीएस लक्ष्मण शामिल हैं। गावस्कर विराट से काफी नाराज हैं उन्होंने एक न्यूज चैनल पर कहा, 'टीम के खिलाड़ी और कप्तान की पसंद से ही कोच रखना है तो फिर सीएसी की जरूरत ही क्या है। वेस्टइंडीज में मौजूद टीम इंडिया के खिलाड़ियों और कप्तान से ही पूछकर कोच रख लिया जाए। इससे सबका समय भी बचेगा।'

दरअसल विराट और कुंबले के बीच पिछले कुछ समय से मनमुटाव चल रहा था। चैम्पियंस ट्रॉफी खत्म होने के साथ ही कुंबले का कोच पद के लिए कॉन्ट्रैक्ट भी खत्म हो गया था। पहले उन्हें वेस्टइंडीज दौरे तक ये जिम्मेदारी सौंपनी थी, लेकिन पाकिस्तान के खिलाफ फाइनल मैच में मिली हार के बाद कोच और कप्तान के बीच दूरियां और बढ़ गईं।


विराट ने बीसीसीआई के आला अधिकारियों से मुलाकात कर कहा कि टीम और वो कुंबले के साथ काम नहीं करना चाहते। जिसके बाद कुंबले ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया। आपको बता दें कि कुंबले का चयन सीएसी ने ही किया था।
हमारे Twitter & Facebook पेज को फॉलो करे

Source : rajsthan patrika, samaya live, ndtv, news18 hindi, navbharat times, jagran, nai dunia, live hindustan, jansatta

Read This :

loading...

जनसंख्या विस्फोट : 2024 तक भारत की आबादी चीन से ज्यादा हो जाएगी!

नई दिल्ली : भारत की आबादी पहले के अनुमान से दो साल बाद यानी 2024 के आसपास चीन की आबादी को पार कर सकती है। इसके 2030 तक 1.5 अरब होने की संभावना है। संयुक्त राष्ट्र के एक पूर्वानुमान में यह दावा किया गया है।


संयुक्त राष्ट्र के आर्थिक एवं सामाजिक मामलों के विभाग ने विश्व आबादी संभावना: 2017 समीक्षा का प्रकाशन किया है। इसमें कहा गया है कि चीन की आबादी फिलहाल 1.41 अरब है और भारत की 1.34 अरब है।

इन दोनों देशों की विश्व आबादी में क्रमश: 19 और 18 फीसदी की हिस्सेदारी है। रिपोर्ट में कहा गया है कि करीब सात साल में या 2024 के आसपास भारत की आबादी चीन की आबादी को पार करने की उम्मीद है।

यह संयुक्त राष्ट्र आधिकारिक अनुमान के 25वें दौर की समीक्षा रिपोर्ट है। 24वें दौर का अनुमान 2015 में जारी किया गया था। इसमें अनुमान लगाया गया था कि भारत की आबादी 2022 तक चीन को पार कर जाएगी।

नए अनुमान में कहा गया है कि 2024 में भारत और चीन, दोनों की आबादी करीब 1.44 अरब के आसपास होगी। इसके बाद भारत की आबादी 2030 में 1.5 अरब और 2050 में 1.66 अरब होने का अनुमान है।

चीन की आबादी 2030 तक स्थिर रहने का अनुमान है जिसके बाद इसमें धीमी गिरावट आ सकती है। भारत की आबादी में 2050 के बाद कमी आ सकती है।

सामूहिक रूप से 10 देशों की आबादी 2017 से 2050 के बीच बढ़ कर दुनिया की कुल आबादी की आधी से अधिक हो जाने की उम्मीद है। इन देशों में भारत, नाइजीरिया, कांगो, पाकिस्तान, इथोपिया, तंजानिया, अमेरिका, यूगांडा, इंडोनेशिया और मिस्र शामिल हैं।


इन 10 देशों में नाइजीरिया की आबादी सबसे तेजी से बढ़ रही है। उसकी आबादी अमेरिका की आबादी को पार कर जाने का अनुमान है और 2050 से कुछ वर्ष पहले यह दुनिया की तीसरा सर्वाधिक आबादी वाला देश बन जाएगा।

नई दिल्ली : भारत की आबादी पहले के अनुमान से दो साल बाद यानी 2024 के आसपास चीन की आबादी को पार कर सकती है। इसके 2030 तक 1.5 अरब होने की संभावना है। संयुक्त राष्ट्र के एक पूर्वानुमान में यह दावा किया गया है।


संयुक्त राष्ट्र के आर्थिक एवं सामाजिक मामलों के विभाग ने विश्व आबादी संभावना: 2017 समीक्षा का प्रकाशन किया है। इसमें कहा गया है कि चीन की आबादी फिलहाल 1.41 अरब है और भारत की 1.34 अरब है।

इन दोनों देशों की विश्व आबादी में क्रमश: 19 और 18 फीसदी की हिस्सेदारी है। रिपोर्ट में कहा गया है कि करीब सात साल में या 2024 के आसपास भारत की आबादी चीन की आबादी को पार करने की उम्मीद है।

यह संयुक्त राष्ट्र आधिकारिक अनुमान के 25वें दौर की समीक्षा रिपोर्ट है। 24वें दौर का अनुमान 2015 में जारी किया गया था। इसमें अनुमान लगाया गया था कि भारत की आबादी 2022 तक चीन को पार कर जाएगी।

नए अनुमान में कहा गया है कि 2024 में भारत और चीन, दोनों की आबादी करीब 1.44 अरब के आसपास होगी। इसके बाद भारत की आबादी 2030 में 1.5 अरब और 2050 में 1.66 अरब होने का अनुमान है।

चीन की आबादी 2030 तक स्थिर रहने का अनुमान है जिसके बाद इसमें धीमी गिरावट आ सकती है। भारत की आबादी में 2050 के बाद कमी आ सकती है।

सामूहिक रूप से 10 देशों की आबादी 2017 से 2050 के बीच बढ़ कर दुनिया की कुल आबादी की आधी से अधिक हो जाने की उम्मीद है। इन देशों में भारत, नाइजीरिया, कांगो, पाकिस्तान, इथोपिया, तंजानिया, अमेरिका, यूगांडा, इंडोनेशिया और मिस्र शामिल हैं।


इन 10 देशों में नाइजीरिया की आबादी सबसे तेजी से बढ़ रही है। उसकी आबादी अमेरिका की आबादी को पार कर जाने का अनुमान है और 2050 से कुछ वर्ष पहले यह दुनिया की तीसरा सर्वाधिक आबादी वाला देश बन जाएगा।
हमारे Twitter & Facebook पेज को फॉलो करे

Source : rajsthan patrika, samaya live, ndtv, news18 hindi, navbharat times, jagran, nai dunia, live hindustan, jansatta

Read This :

loading...

Wednesday, 21 June 2017

अगर हिन्दू आतंकी होता तो दुनिया से आतंकवाद खत्‍म कर देता : अनिल विज

नई दिल्ली : अक्सर अपने बयानों को लेकर विवादों में रहने वाले हरियाणा के स्वास्थ्य औऱ खेल मंत्री ने एक बयान दिया है। विज ने अपने बयान में कहा कि कोई हिंदू आतंकवादी नहीं हो सकता। हिंदू आतंकवाद की तरह का कोई भी शब्द नहीं है।

Image Source - news18

विज ने कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस ने हिंदू आतंकवाद कोखड़ा किया। इससे पहले भी विज अपने बयानों से चर्चाओं में आए थे जब उन्होंने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को महात्मा गांधी से बड़ा ब्रांड बताया था।

विज ने पुराने समय में हुए आतंकी हमलों का जिक्र करते हुए  ने कहा कि उस समय जो लोग पाकिस्तान के थे उन्हें छोड़ दिया गया और भारतीय लोगों को पकड़ कर उन्हें हिंदू आतंकी करार दे दिया गया।

विज ने ये भी कहा कि केवल हिंदू ही इस दुनिया से आतंक का खात्मा कर सकता है। बताते चलें कि अनिल विज साल 2007 में हुए समझौता ब्लास्ट के मामले पर बात कर रहे थे।


समझौता एक्सप्रेस में हुए धमाके में कुल 68 लोगों की जाने गई थी। इस मामले में उन्होंने हिंदुओं के शामिल होने की बात से इनकार करते हुए कहा कि कांग्रेस के शासन काल में इस मामले में सही ढंग से जांच नहीं हुई।

नई दिल्ली : अक्सर अपने बयानों को लेकर विवादों में रहने वाले हरियाणा के स्वास्थ्य औऱ खेल मंत्री ने एक बयान दिया है। विज ने अपने बयान में कहा कि कोई हिंदू आतंकवादी नहीं हो सकता। हिंदू आतंकवाद की तरह का कोई भी शब्द नहीं है।

Image Source - news18

विज ने कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस ने हिंदू आतंकवाद कोखड़ा किया। इससे पहले भी विज अपने बयानों से चर्चाओं में आए थे जब उन्होंने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को महात्मा गांधी से बड़ा ब्रांड बताया था।

विज ने पुराने समय में हुए आतंकी हमलों का जिक्र करते हुए  ने कहा कि उस समय जो लोग पाकिस्तान के थे उन्हें छोड़ दिया गया और भारतीय लोगों को पकड़ कर उन्हें हिंदू आतंकी करार दे दिया गया।

विज ने ये भी कहा कि केवल हिंदू ही इस दुनिया से आतंक का खात्मा कर सकता है। बताते चलें कि अनिल विज साल 2007 में हुए समझौता ब्लास्ट के मामले पर बात कर रहे थे।


समझौता एक्सप्रेस में हुए धमाके में कुल 68 लोगों की जाने गई थी। इस मामले में उन्होंने हिंदुओं के शामिल होने की बात से इनकार करते हुए कहा कि कांग्रेस के शासन काल में इस मामले में सही ढंग से जांच नहीं हुई।
हमारे Twitter & Facebook पेज को फॉलो करे

Source : rajsthan patrika, samaya live, ndtv, news18 hindi, navbharat times, jagran, nai dunia, live hindustan, jansatta

Read This :

loading...

CM योगी के खिलाफ महिला ने दर्ज कराया आपत्तिजनक फोटो शेयर करने का केस!

नई दिल्ली : उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री के खिलाफ एक आदिवासी महिला ने केस दर्ज कराया है। असम की इस महिला ने यूपी के सीएम पर आरोप लगाया है कि सीएम ने उसकी एक न्यूड फोटो को सोशल मीडिया में शेयर किया है। इसके लिए महिला ने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया।


लक्ष्मी ओरंग नाम की इस आदिवासी महिला ने आईपीसी और सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम की विभिन्न धाराओं के तहत सब डिवीजिनल न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत में शिकायत दायर की। महिला के मुताबिक, 24 नवंबर 2007 को गुवाहाटी के बेलटोला में अखिल असम आदिसवासी छात्र संघ के आंदोलन के दौरान ली गई उसकी न्यूड फोटो को योगी आदित्यनाथ ने 13 जून को अपने सोशल मीडिया पेज पर पोस्ट किया था। इसके अलावा महिला ने सांसद राम प्रसाद सरमा के खिलाफ इस फोटो शेयर को करने को लेकर केस दर्ज कराया।

इससे पहले भी यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के खिलाफ कई केस दर्ज हुए हैं। उन पर धर्म, जाति, जन्म स्थान, निवास, भाषा आदि के आधार पर विभिन्न समूहों के बीच सद्भाव बिगाड़ने के मामले में आईपीसी की धारा 153ए के तहत दो मामले दर्ज किए गए थे। आईपीसी की धारा 295 के तहत भी दो मामले दर्ज हैं।

इसके साथ ही सीएम योगी के खिलाफ आईपीसी की धारा 506, धारा 307, धारा 147, धारा 336, धारा 149, धारा 504 के तहत भी कई केस दर्ज हैं। सभी मामले लोकसभा चुनाव 2014 में दिए गए उनके हलफनामें में दर्ज हैं। हालांकि कितने मामले इनमें से खत्म हुए या बंद हुए। यह जानकारी अभी उपलब्ध नहीं हो पाई है।

आपको बता दें कि यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ की ओर से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को दिए गए रात्रिभोज में सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव, सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और बसपा प्रमुख मायावती समेत कई प्रमुख लोगों को आमंत्रित किया गया था लेकिन, मायावती और अखिलेश नहीं पहुंचे।


दरअसल, इस भोज के जरिए उत्तर प्रदेश में राष्ट्रपति चुनाव के समीकरण की संभावनाएं तलाशी जानी थी लेकिन, नेताओं के न पहुंचने से विपक्ष की दूरियां साफ उजागर हो गईं। मोदी रात मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सरकारी आवास पांच कालिदास मार्ग पर आयोजित भोज में करीब साढ़े आठ बजे पहुंचे थे।

नई दिल्ली : उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री के खिलाफ एक आदिवासी महिला ने केस दर्ज कराया है। असम की इस महिला ने यूपी के सीएम पर आरोप लगाया है कि सीएम ने उसकी एक न्यूड फोटो को सोशल मीडिया में शेयर किया है। इसके लिए महिला ने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया।


लक्ष्मी ओरंग नाम की इस आदिवासी महिला ने आईपीसी और सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम की विभिन्न धाराओं के तहत सब डिवीजिनल न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत में शिकायत दायर की। महिला के मुताबिक, 24 नवंबर 2007 को गुवाहाटी के बेलटोला में अखिल असम आदिसवासी छात्र संघ के आंदोलन के दौरान ली गई उसकी न्यूड फोटो को योगी आदित्यनाथ ने 13 जून को अपने सोशल मीडिया पेज पर पोस्ट किया था। इसके अलावा महिला ने सांसद राम प्रसाद सरमा के खिलाफ इस फोटो शेयर को करने को लेकर केस दर्ज कराया।

इससे पहले भी यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के खिलाफ कई केस दर्ज हुए हैं। उन पर धर्म, जाति, जन्म स्थान, निवास, भाषा आदि के आधार पर विभिन्न समूहों के बीच सद्भाव बिगाड़ने के मामले में आईपीसी की धारा 153ए के तहत दो मामले दर्ज किए गए थे। आईपीसी की धारा 295 के तहत भी दो मामले दर्ज हैं।

इसके साथ ही सीएम योगी के खिलाफ आईपीसी की धारा 506, धारा 307, धारा 147, धारा 336, धारा 149, धारा 504 के तहत भी कई केस दर्ज हैं। सभी मामले लोकसभा चुनाव 2014 में दिए गए उनके हलफनामें में दर्ज हैं। हालांकि कितने मामले इनमें से खत्म हुए या बंद हुए। यह जानकारी अभी उपलब्ध नहीं हो पाई है।

आपको बता दें कि यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ की ओर से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को दिए गए रात्रिभोज में सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव, सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और बसपा प्रमुख मायावती समेत कई प्रमुख लोगों को आमंत्रित किया गया था लेकिन, मायावती और अखिलेश नहीं पहुंचे।


दरअसल, इस भोज के जरिए उत्तर प्रदेश में राष्ट्रपति चुनाव के समीकरण की संभावनाएं तलाशी जानी थी लेकिन, नेताओं के न पहुंचने से विपक्ष की दूरियां साफ उजागर हो गईं। मोदी रात मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सरकारी आवास पांच कालिदास मार्ग पर आयोजित भोज में करीब साढ़े आठ बजे पहुंचे थे।
हमारे Twitter & Facebook पेज को फॉलो करे

Source : rajsthan patrika, samaya live, ndtv, news18 hindi, navbharat times, jagran, nai dunia, live hindustan, jansatta

Read This :

loading...

© 2011-2014 Hamari Khabar. Designed by Bloggertheme9. Powered by Blogger.